सोमवार, 25 जनवरी 2010

पोस्टमार्टम जारी है......... (भाग - २)

                         

                   
  मिसकॉल

जनाब! मैं पिछले दो घंटों से आपको फ़ोन लगा रहा हूँ और अब आप कहते है "आपकी मिसकॉल आयी थी" जी हाँ! कुछ ऐसा ही हाल है, जबसे मोबाइल फ़ोन का प्रचलन बढ़ा है तभी से दो शब्द हर किसी की जुबान पर मानो अटक से गए है, एक शब्द है मेसेज अर्थात सन्देश और दूसरा शब्द है मिसकॉल, अर्थात जिसे आप चूक गए है, अर्थात आपको इतना समय नहीं दिया गया की आप उस कॉल को प्राप्त कर लें, तो जनाब आज मेरे   पोस्टमार्टम टेबल पर लेटे है मिस्टर कॉल अर्थात मिसकॉल.  
पोस्टमार्टम जारी है अभी तक जो जानकारी में हासिल कर पाया हूँ उसके हिसाब से मिस कॉल के नाम से जिस शव का मैं  पोस्ट मार्टम करने जा रहा हूँ दरअसल वो एक सम्पूर्ण कॉल होती है, यदि उसे प्राप्त कर लिया जाता.  हुआ यूँ की फलां व्यक्ति के पास मेरी कुछ उधारी पड़ी हुई है,  सो उसी सिलसिले में जनाब को में पिछले दो दिन से फ़ोन लगा रहा हूँ घंटी बजती है जनाब फ़ोन नहीं उठाते है और मेरी और से एक सम्पूर्ण कॉल जनाब के मोबाइल स्क्रीन पर एक मिस कॉल के रूप में दर्ज हो जाती है .
अब जबकि जनाब ने गलती से (या मजबूरी से) फ़ोन उठा ही लिया तो हेल्लो, हाई छोड़ " हाँ जी ! आपकी मिस  कॉल आयी थी दरअसल मेरे मोबाइल में बैलेंस कम था इसलिये कॉल बेक नहीं कर सका".  मैंने स्वयं को बहुत अपमानित महसूस किया. मेरा कर्जदार मुझसे  कहता है "हाँ जी! क्या बात है आपकी मिस कॉल आयी थी"  मानो मुझे गाली दे रहा था भला मैं  क्यूँ मिस कॉल करूँगा? मेरे पास तो "बेस्ट है मेरे लिए" अर्थात बीएसएनएल का पोस्ट पेड  कनेक्शन है. मेरे सामने तो बैलेंस कम है जैसी समस्या भी नहीं है.
वैसे मिस कॉल के मायने जीवन के हर क्षेत्र में अलग-अलग होते है समझने वाले के लिए इशारा ही काफी है अर्थात हर पल में "कितना कुछ" अभी-अभी मेरे मोबाइल पर "ऐट होम" नाम से एक मिस कॉल दर्ज हुई है  मिस कॉल घर से थी पूर्णतह भावार्थ ये की  आपसे बात करनी है ऑफिस के फ़ोन से कॉल बेक करो! मैं  स्वयं के मोबाइल से कॉल बेक करता हूँ और ढेर सारी फर्मायिशे अपनी छोटी सी मेमोरी में कॉम्प्रेस कर लेता हूँ, ढेर सारी फरमाईशो  के अंत में एक आम प्रश्न? "ऑफिस का फ़ोन डेड है क्या?" कम से कम मैं तो ऑफिस के फ़ोन को व्यक्तिगत प्रयोग के लिए तो डेड ही समझता हूँ, लेकिन जनाब ऑफिस के अन्य कर्मचारी इस मामले में काफी समझदार होते हैं, मोबाइल स्क्रीन पर मिस कॉल दर्ज हुई नहीं की दौड़ पड़े ऑफिस के फ़ोन की ओर! मिस कॉल तुरंत अटैंड  हो गयी और अपना बैलेंस भी ज्यों का त्यों. अब अगर  फ़ोन हाथ लग ही गया है तो एक-दो और कॉल भी साथ में और हाँ अपने दूर के किसी रिश्तेदार को भी एक अग्रिम नसीहत (आगाह) की भविष्य में मेरे मोबाइल पर  मिस कॉल कर लेना और ऑफिस के इस नंबर को मेरे नाम पर सुरक्षित कर लो व् साथ में " कंडीशंस अप्लाई " की आपको ऑफिस टाइम पर ही फ़ोन करूँगा, "ऐसी सुविधा और कहाँ"
जनाब! कई बार मिस कॉल किस कदर आपको बेवकूफ बनाने में सहायक सिद्ध होते है, उदहारण देखिये, स्वागत कक्ष अर्थात रेसेपशन कक्ष में तैनात महोदया  के फ़ोन पर मिस  कॉल दर्ज हुई , ऑफिस से सम्बंधित सारे काम छोड़ कर महोदया नंबर लगाती है नंबर लगते ही झूम उठी  हा..हा..ही..ही..........आधा घंटा बीत गया तभी बॉस का बुलावा आ गया... मैडम क्या बात है में आधे घंटे से ट्राई कर रहा हूँ फ़ोन बीजी जा रहा है ........."सर एक इनकमिंग  कॉल थी कोई क्लाईंट  था लाइन पर ......!
जनाब आप जानते ही होंगे  की मिस कॉल भी कई प्रकार  के होते है. इनमे सर्व प्रथम आमंत्रित कॉल, जिन्हें आपने ही आमंत्रित किया होता है, ऐसे मिस कॉल ऑफिस के फ़ोन की सेहत के लिए अत्यधिक हानिकारक होते है और बॉस की चतुराई पर हमला भी . इस प्रकार के कॉल आपके अपनों के ही हो सकते है, यानि कीजिये अपनों से दिल की बात....  दूसरी श्रेणी के मिस कॉल अर्थात अनचाहे मिसकाल, जो अक्सर आपके जानने वालों की ओर से छोडे जाते है  ऐसे लोग कुछ मितव्ययी किस्म के होते है.  मान मर्यादा का लिहाज रखते हुए इन्हें मैं कंजूस नहीं कह सकता. ऐसे मिस कॉल आपको धर्म संकट में डाल  देते है  मज़बूरी में कॉल बेक करनी ही पड़ेगी लेकिन अभी नहीं, कल ऑफिस जाकर. मिस कॉल की एक अन्य श्रेणी भी होती है जिन्हें हम अनजाने मिस कॉल कह सकते है इन्हें पहचानना जरा कठिन काम होता है, क्योंकि इस प्रकार के मिस कॉल अक्सर गलतफ़हमी पैदा करते है लिहाज़ा अभी आप अपने मोबाइल से कॉल बेक करने को मजबूर है.... और दूसरी ओर आपकी दरियादिली से गद-गद  एक चिर-परिचित सा जवाब मिलता है कि  "सॉरी गलती से नंबर लग गया था ............"
एक आईडिया जो बदल से आपकी दुनिया.......वो ये कि भविष्य मे यदि आपके मोबाइल पर कोई अनजान  मिस कल आये तो जनाब काल बैक करने के बजाय एस एम् एस करके देख लें तो बेहतर होगा.....

2 टिप्‍पणियां:

  1. Aapke blog par aakar chha laga. aur yah jaankar or bhi achha laga ki aap uttarakhad se belog karte hai aur bahut achha likhte hai.....
    Shubhkamnayen.

    उत्तर देंहटाएं
  2. mdm, nutan versh ki hardik subhkamnaon ke saath bahut-bahut dhanyavad.ji han mai distt.almora belong karta hun ( Chanouda near kausani).

    उत्तर देंहटाएं